Search

शोक समाचार (जुलार्इ 2015)


  • श्री कृष्णकांतजी द्विवेदी का देवलोकगमन
    स्व. कृष्णकांतजी द्विवेदी का जन्म दि. २७ अगस्त १९२९ को उज्जैन में हुआ था। पिता स्व. श्री फुन्दीलालजी (मुनीम) द्विवेदी व माता स्व. श्रीमती शिप्रा देवी थे। उनकी शिक्षा उज्जैन एवं ग्वालियर में हुर्इ थी एवं भारतीय डाकसेवा मे सेवारत रहते हुए पोस्ट मास्टर (मेल) के पद से १९८६ में सेवानिवृत्त हुए थे। वे अखिल भारतीय डाक कर्मचारी सेवा संघ के पद पर काफी समय तक पदस्थ रहे एवं सेवानिवृत्ति के पश्चात् उन्होंनेे पोस्ट अॅाफिस और भारतीय जीवन बीमा निगम के अभिकर्ता के रूप में कार्य किया। उनका सम्पूर्ण जीवन अपने परिवार एवं आत्मीयजनों को समर्पित रहा है। जीवनकाल...
  • श्रीमती शांतारमणजी का स्वर्गवास
    पूर्व सांसद श्री लक्ष्मीनारायणजी पाण्डे, श्री भगवतीलालजी पाण्डे, श्रीमती कान्ता, श्रीमती सरस्वती उपाध्याय की बहन और हेमन्त-संध्या, हिमांशु-डॅाली उपाध्याय तथा श्रीमती प्रेमलता देवेन्द्र व्यास, स्नेह-विवेक त्रिवेदी, रेखा-अभय दवे, ॠतु-प्रवीण शर्मा, वंदना-राहुल व्यास की माताजी श्रीमती शांता रमणजी उपाध्याय ५ अप्रैल को श्री जी शरण हुर्इ। सेवा, समर्पण और त्याग स्व. शांताजी के व्यक्तित्व के पर्याय बन गए थे। इष्ट देव श्री मथुराधीशजी उनकी आत्मा को निज चरणों में स्थान दे।...
  • लक्ष्मीनारायणजी पाठक श्रीजी शरण
    पं.शिवनारायण, सुरेशचन्द्र एवं घनश्याम पाठक निवासी ग्राम बेरछी जिला उज्जैन के पूज्य पिता लक्ष्मीनारायण जी पाठक का स्वर्गवास सौ वर्ष की आयु में १६ मर्इ को हो गया। वे तन, मन, धन से समाज सेवा में सक्रिय रहे। उनकी पुण्य स्मृति को चिरस्थायी बनाने हेतु पाठक परिवार ने औदीच्य धर्मशाला अब्दालपुरा उैन,महामालव औदीच्य धर्मशाला क्षीरसागर उज्जैन, औदीच्य धर्मशाला तराना प्रत्येक को १००१/-तथा औदीच्य धर्मशाला घटिया, महिदपुर, बडनगर, देवास सहित कर्इ संस्थाओं को भी सहयोग राशि प्रदान की।...
  • श्रीमती रमाकान्ता देवी पण्ड्या का स्वर्गवास
    स्व. अनोखीलाल जी पण्ड्या की धर्मपत्नी एवं श्री मुन्नालाल, कान्तिलाल, बद्रीलाल एवं कैलाशचन्द्र पण्ड्या ग्राम झुठावद की माताजी श्रीमती रमाकान्ता देवी पण्ड्या का स्वर्गवास दिनांक २३ मर्इ को हो गया। उनकी अध्यात्म में काफी रूचि थी। उनके उत्तर कार्य में उपस्थित स्वजनों एवं स्नेहीजनों ने श्रद्धांजली दी। माताजी की स्मृति में पण्ड्या परिवार ने समाज की संस्थाओं को उदारतापूर्वक सहयोग राशि प्रदान की।...
  • पं. राधेश्यामजी शर्मा का देवलोकगमन
    ग्राम- अलवासा जि. इन्दौर के निवासी पं. राधेश्यामजी शर्मा का ९८ वर्ष की आयु में इन्दौर में देवलोकगमन हो गया। श्री शर्मा बहुत सरल व धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति थे, उन्होंने सादगीमय जीवन व्यतीत किया। वे स्थानीय रामायण मण्डल के सक्रिय सदस्य थे तथा ओंकारेश्वर स्थित शिवकोठी धाम के भी सक्रिय सदस्य रहे। स्व. शर्माजी की स्मृति में इनके परिवार ने समाज की प्रस्तावित धर्मशाला रेवती रेंज के लिए, चितामण गणेश उज्जैन तथा धर्मशाला भारतमाता मंदिर प्रत्येक को रु. १०००/- की राशि प्रदान की।...
  • उषादेवी पण्ड्या श्रीजी शरण
    मालवा अंचल के ज्योतिषाचार्य एवं मंदसौर जिले के ख्यात श्री कांतिलालजी पण्ड्या की धर्मपत्नी श्री उषादेवी पण्ड्या का आकस्मिक स्वर्गवास ३१ मर्इ को हो गया। वे कुशलगढ निवासी श्री पुरुषोत्तमजी भट्ट की सुपुत्री थी। श्रीमती उषादेवी पण्ड्या एक सौम्य, सरल एवम् धार्मिक प्रवृत्ति की महिला थी। वे अपने पीछे भरापूरा परिवार छोड गर्इ हैं।...